Sunday, 29 December 2013

आदमखोर आदमी ……!!


हाय !!
 एक चिल्लाहट के साथ
हजारों हाथ
दुआ में उठ खड़े हुए ;
 बेटी की
इज्जत भरे बाजार
 कुछ समाज के
ठेकेदारों ने
नीलाम दिए ।
वह केवल वह
नन्ही लड़की ---
अपने दोनों हाथों को
उठाकर अपने
 सिने को ढ़ाँप कर
आकाश की ओर
 देख रही थी ,
थोड़ी सी बददुआ
मांग रही थी -----
अपने लिए -------
समाज के लिए !!!
-----श्रीराम रॉय 
Post a Comment
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...