Showing posts with label गुलाब. Show all posts
Showing posts with label गुलाब. Show all posts

Tuesday, 13 February 2018

मेरा फूल गुलाब का...

इंतज़ार में तेरे जवाब का।
रखा है फूल गुलाब का

आएगा जब खत तेरा,
भेजूंगा फूल गुलाब का।।

सीने में सजा कर रखना इसको,
दिल है फूल गुलाब का।।

यादों के खुशबू तुम्हें मुबारक,
कहेगा फूल गुलाब का।।

तुम चाहे तो छोड़ दो मुझको,
मत फेंको फूल गुलाब का।।

मैं न तेरे प्यार के काबिल,
काबिल है फूल गुलाब का।।

गर गैरों से इश्क हो जाये,
देना फूल गुलाब का।।

है तमन्ना कोई आशिक रखे,
मेरा फूल गुलाब का।।

------श्रीरामरॉय

Friday, 15 May 2015

अकेलापन


छाई मस्ती 
  हुई दोस्ती। 

तोड़े बाँटे 
  छोटे काँटे। 

रोती रात 
   ख़त्म बात। 

हुई भूल 
    दिया फूल। 

 एक किताब 
      एक गुलाब।   
      ***
 Sriram Roy 
      *** 
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...