Showing posts with label जीत -हार. Show all posts
Showing posts with label जीत -हार. Show all posts

Wednesday, 20 May 2015

!!जीवन सार!!

बस कर
मत डर। 

पहर दोपहर
मिले जहर।

बुलंद हौसले
पत्थर मसले। 
चल बेखबर
लम्बी उमर।
दुनिया निराली
सुख की प्याली।

जीभर जीना
कभी न रोना। 

जीवन सार
जीत हार।

--श्रीराम
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...